Share this…
• भू-पर्पटी में सर्वाधिक मात्रा में पाया जाने वाला तत्व ऑक्सीजन है। 

• सबसे भारी धातु ओसमियम है। 

• सोडियम धातु को मिटटी के तेल में रखा जाता है। 

• गैलेना सीसा का अयस्क है। 

• आवर्त सारणी का सबसे बड़ा आवर्त बध्टम्‌ है। 

• आवर्त सारणी का सबसे छोटा आवार्त प्रथम है। 

• आधुनिक आवर्त नियम का प्रतिपादन मोसले ने किया था। 

• मेण्डलीफ के आवर्तसारणी में तत्वों के वर्गीकरण का आधार परमाणु द्रव्यमान है। 

• त्रिक नियम का प्रतिपादन डोबरेनर ने किया था। 

• अष्ट्क नियम' का प्रतिपादन न्यूलैंड ने किया था। 

• श्वसन मंद दहन क्रिया है। 

• दहन एक ऑक्सीकरण रासायनिक अभिक्रिया है। 

• पाइरोलिग्गियस अम्ल लकड़ी के भंजक आसवबन द्वारा प्राप्त होने वाला अवयव है। 

• सूर्य के भीतर नाभिकीय अभिक्रियाएँ होती है। 

• पृथ्वी पर पाए जाने वाले यूरेनियम में सर्वाधिक मात्रा में U-238 रहता है। 

• सोर उर्जा हम तक अवरक्त प्रकाश द्वारा पहुँचती है। 

• पराबैंगनी किरणों का प्राकृतिक स्रोत सूर्य से प्राप्त विकिरण है। 

• नाभिकीय संलयन अभिक्रिया में हाइड्रोजन हीलियम में परिणत होता हे। 

• एण्टीमनी एक उपधातु है। 

• लोहा का निष्कर्षण मुख्यतः: हेमाटाइट अयस्क से होता है। 

• जिप्सम को 120℃ ताप तक गर्म करने पर प्लास्टर ऑफ पेरिस प्राप्त होता है। 

• ताबा का निष्कर्षण मुख्यतः कॉपर पाइराइट्स अयस्क से किया जाता है। .. 

• मैग्नेलियम एलुमिनियम का मिश्रधातु है। 

• सल्फाइड अयस्क का सान्द्रण फेन-प्लवन विधि द्वारा होता है। 

• फॉस्फोरस का सबसे स्थायी अपररूप लाल फॉस्फोरस हे। 

• फॉस्फोरस का श्वेत अपरूप अत्यधिक विषैला होता है। 

• क्रायोलाइट ऐलुमिनियम का अयस्क हे। 

• कागज सेलूलोज का शुद्ध रूप है। 

• वायु में धुआँ निलंबन का उदाहरण है। 

• रक्त कोलाइड का उदाहरण है। 

• ताप में वृद्धि होने से ठोस पदार्थ की विलेयता बढ़ती हे।
Share this…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *