Share this…
• गाय का वैज्ञानिक नाम Bos Indicus  हैं

• अपने जीवन काल में गाये 8 से 10 बच्छे देती है।

• देशभर में गायें की 32 नस्‍लें पाई जाती है। 

• भैंस का वैज्ञानिक नाम बुबेलस है। 

• भैंस की औसत जीवन अवधि 25 वर्ष है। 

• बकरी के नस्‍लों में चेगू एवं चेंगपंगी से पश्मीना ऊन प्राप्त होता है। | 

• गाय के दूध में कार्बोहाइड्रेट व लैक्टोज होता है। । 

• दूध का रंग सफेद केसीन के कारण होता है। | 

• सर्वाधिक भेडें आस्ट्रेलिया में पाई जाती है। | 

• फाइमीना एक बकरी की नस्ल है। | | 

• दूध का अधिक उत्पादन उत्तर प्रदेश में होता है। | 

• सबसे अधिक वसा रेंडियर के दूध में पाया जाता है। 

• ऑपरेशन फ्लड का संबंध डेरी विकास से है। 

• राष्ट्रीय डेयरी बोर्ड की स्थापना 1965 में हुई थी। 

• एन्थ्रैक्स रोग का संबंध गाय तथा भैंस से है। 

• मुर्गीयों की सबसे भयंकर बीमारी रानीखेत हे। 

• केन्द्रीय गोसंवर्ध्दन समिति की स्थापना 1952 ई० में की गई। 

• भारत में मुर्गों की संख्या प्रतिवर्ग किमी लगभग 40 है। 

• कांकरेज गाय की सबसे भारी नस्ल हेै। 

• भैंसों की गर्भावधि 310 दिनों की होती है। 

• भारत में बकरियों की लगभग 21 नस्‍लें पाई जाती है। 

• बकरी का गर्भकाल 150 दिनों का होता है। 

• ऊँट की जीवन अवधि 40 बर्ष होती है। 

• ऊँट की गर्भावधि 365 से 400 दिन होती है। 

• भारत में सबसे बड़ा पशु मेला सोनपुर में लगता है। 

• दूध से दही किण्वन प्रक्रिया से बनता है। '

• श्वेत क्रांति” का संबंध दुग्ध उत्पादन से है। 

• 'एपीकल्चर' का संबंध मधुमक्खी पालन से है। 

• पशु प्रजनन नीति जनवरी 2007 में लागू की गई। 

• भारत का सबसे बड़ा मत्स्य उत्पादक राज्य पं० बंगाल है। 

• बकरी को “गरीबों की गाय' के नाम से जाना जाता है। 

• 'मेरिनो' एक भेड़ की प्रजाति है। 

• 'राष्ट्रीय दुध शोध संस्थान' करनाल (हरियाणा) में स्थित है। 

• भारत में श्वेत क्रांति की शुरूआत 1970 ई० में हुआ था। 

• लाल क्रांति का संबंध मांस उत्पादन से है। 

• “अफरा रोग' का संबंध जुगाली करने वाले पशुओं से है। 

• पशुओं के ऊपरी जबड़ों में दाँत नहीं होते है। 

• भारतीय डेयरी नियम की स्थापना 1970 में हुई। 

• अंडा उत्पादन में भारत का स्थान पाच्वाँ है। 

• पाश्चुरीकरण क्रिया में दुध को 62℃ पर 20 मिनट तक रखा जाता है। 

• भारत में सर्वाधिक भेडे राजस्थान में पाया जाता है। 

• 'मुर्रा' भैंस छल्‍लेदार सींग से पहचानी जाती है। 

• घी में वसा की मात्रा 99% होती है। 

• दूध का रंग पीला कैरोटीन के कारण होता है। 

• ऊंट अपने कुबर का प्रयोग बसा के संग्रह के लिए करता है। 

• दूध का घनत्व लैक्टोमीटर यंत्र से मापा जाता है। 

• भेड़ का वैज्ञानिक नाम ओविस ऐरीज है। 

• कुत्ता का औसत जीवन काल 12 वर्ष होता है। 

• नेल्सारी भेंड तमिलनाडु में पायी जाती है। 

• पालतू भैस दो प्रकार के होते है - अनुप और नदीय 

• बकरी के उत्सर्जी पदार्थ में काफी मात्रा में नाइट्रोजन एवं फॉस्फोरस होती है। 

• जन्म के समय गाय-बेलों में इन्साइजर दाँतो की संख्या दो होती है। 

• गाय के दूध में 25 प्रकार के खनिज तत्व पाये जाते है। 

• गाय के दूध में भैंस के दूध की अपेक्षा 10 गुना कैरोटीन अधिक होता है। 

• केरोटीन शरीर में पहुँचकर विटामिन-A का निर्माण करता है। 

• पशुओं में स्थायी दाँत 4-5 वर्ष बाद निकलता है। 

• पशुओं को बधिया करने में बर्डिजोकेल्ट्रेर एवं एनैस्ट्रेटर का प्रयोग किया जाता है। 

• गिर नस्ल के बेल गाड़ी खीचनें के लिए उपयोगी है। 

• गाय एवं भेंस की संख्या में विश्व में भारत का स्थान प्रथम है। 

• बिना सिंगो वाले जानवर को पोल्ड कैटल कहते है। 

• बच्चों वाली गाय को डैम कहते है। 

• भारत में भेंसों की 7 नस्लें पायी जाती है। 

• साहीवाल नस्ल की गाय का रंग लाल व भूरा होता है। 

• भारतीय गायों को Tea Cup Cow कहा जाता है। 

• गाय की मादा बच्चों को बछिया तथा नर बच्चों को बछड़ा कहा जाता है। 

• डेयरी पशुओं में सबसे सुन्दर एवं आकर्षक नस्ल आयरशयर हे। 

• दुधारू गाय का शरीर लम्बा एवं मुलायम होता है। 

• भारत के कुल दुग्ध उत्पादन का 50% हिस्सा भैंस से प्राप्त होता है। 

• भारत में गो पशुओं की संख्या विश्व में कुल संख्या का 15.4% है। 

• गाय का गर्भकाल 280 दिनों का होता है। 

• रूक्षांश में घास, भूसा एवं चारा की अधिकता होती है। 

• भारत में श्वेत क्रांति की शुरूआत 1970 में हुई।

• भारत में सबसे ज्यादा दूध का उत्पादन उत्तर प्रदेश में होता है। 

• भारत में सबसे ज्यादा बकरियाँ उत्तर प्रदेश में होती है। 

• बरवरी को 'शहरी बकरी' के नाम से जानी जाती है। 

• सानेन नस्ल की बकरी को विश्व की 'दूध की रानी' कहा जाता है। 

• भारत में सबसे अधिक दूध देने वाली भैंस मूरी है। 

• सर्वप्रथम कृत्रिम गर्भाधान भारत में 1942 में इज्जतनगर बरेली में प्रारंभ किया गया। 

• भारत में सबसे ज्यादा सुअरें उत्तर प्रदेश में पायी जाती है। 

• विश्व सुअर पालन में चीन का स्थान प्रथम है। 

• बकरियों के प्रजनन के लिए शीतकाल एवं बसंत ऋतु सबसे उपयुक्त मौसम होता है। 

• भारत में सबसे अधिक बकरी राजस्थान तथा उत्तर प्रदेश में पाली जाती है। ह 

• पिंकटेडा समुदाय के जानवरों से मोती  निकाले जाते है। 

• मछलियों में गिल का सड़न  कवक से होता है। ॥ 

• मुर्गियों में कोराइजा रोग जीवणु से होता है। 

• अण्डे के लिए मुर्गी की उत्तम जाति लेग्हार्न है। 

• सूअरी एक बार में औसतन 4 से 6 बच्चें होती है। ॥ 

• भारतीय पशु चिकित्सा अनुसंधान बरेली में है। 

• भेड़ 150 दिनों में बच्चा देती है। 

• भारत की राष्ट्रीय स्तनी बाघ है। 

• ऐन्प्रेक्स बैसिलस के द्वारा होता है। 

• मछलियों के यकृत तेल में विटामिन-A की प्रचुरता रहती हे। | 

• ऊँट एक बार में 60 लीटर तक पानी पी सकता है। 

• शहद में काबोहाइड्रेट 78% पाया जाता है। | 

• रानी मक्खी एक दिन में ओसतन 1500 अण्डे देती है। 

• मछलियों में अलसर रोग जीवाणु से होता है। 

• ऑपरेशन फ्लड का तीसरा एवं अंतिम चरण 1996 में समाप्त हुआ। 

• सबसे ज्यादा प्रोटीन भेड़ के दूध में होता है। 

• मुर्गी के अण्डे का औसत भार 55 ग्राम होता है। 

• अण्डे के लिए मुर्गी की उत्तम जाती ओरपिंगटन है। 

• भारतीय पशु चिकित्सा अनुसंधान संस्थान बरेली में है। 

• एन्श्रेक्स बैसिलस के द्वारा होता है। 

• भेड एवं बकरी का गर्भकाल 150 दिन का होता है। 

• भैस में श्वसन गति 15-20 बार प्रति मिनट होती है। 

• मादा के बच्चा देने के बाद के 'क्षरण' को ग्रीस  कहते हे |
Share this…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *