Share this…

• 1905 में ग्‍वालियर रियासत में पहली बार भाप से बिजली उत्‍पादन 240 KW किया गया था ।
• 1950 में म.प्र. विद्युत विभाग की स्‍थापना जबलपुर (शक्ति भवन) में की गयी ।
• 1953 में चाँदनी म.प्र. का पहला ताप विद्युत‍ केंद्र, नेपानगर (बुरहानपुर) में स्‍थापित किया गया ।
• 1960 में म.प्र. की पहली जल विद्युत परियोजना, गाँधी सागर (मंदसौर) में स्‍थापित की गयी ।
• 1982 में म.प्र. ऊर्जा विकास निगम की भोपाल में स्‍थापना की गयी ।

ऊर्जा वितरण / विभाग

ऊर्जा के प्रकार / स्‍त्रोत

अनवीनीकरण ऊर्जानवीनीकरण ऊर्जा
अन्‍य नामपरंपरागत स्‍त्रोत या क्षय ऊर्जागैर परंपरागत स्‍त्रोत या अक्षय ऊर्जा
ऊर्जा स्‍त्रोतइसके भण्‍डार सीमित हैं व भविष्‍य में समाप्‍त हो सकते हैं ।इसके भण्‍डार असीमित हैं व भविष्‍य में समाप्‍त नहीं हो सकते हैं ।
पर्यावरणये ऊर्जा स्‍त्रोत पर्यावरण को क्षति पहुंचाते है ।ये ऊर्जा स्‍त्रोत पर्यावरण को क्षति नहीं पहुँचाते है ।
उदाहरणविद्युत ऊर्जा, परमाणु ऊर्जा आदि ।सौर ऊर्जा, पवन ऊर्जा, बायोमास, बायोगैस आदि ।

अनवीनीकरण ऊर्जा स्‍त्रोत

ताप विद्युत ऊर्जा
• इसमें कोयले की सहायता से ऊर्जा उत्‍पन्‍न की जाती है ।
• विंध्‍यांचल ताप विद्युत केंद्र म.प्र. का सबसे बड़ा सिंगरौली में स्‍थापित किया गया ।

 मध्‍यप्रदेश में प्रमुख ताप विद्युत केन्‍द्र

ताप विद्युत केन्‍द्रस्‍थानविशेष
चाँदनी ताप विद्युत केन्‍द्रबुरहानपुरप्रदेश का सबस छोटा व पहला व छोटा ताप  विद्युत केन्‍द्र
विंध्‍याचल ताप विद्युत केन्‍द्रबैढ़क (सिंगरौली)प्रदेश का सबसे बड़ा व रूस की सहायता से स्‍थापित ।
संजय गाँधी ताप विद्युत केन्‍द्रवीरसिंहपुर (उमरिया)अमरकंटक ताप‍ विद्युत केन्‍द्र शहडोल जिले के सोहागपुर में स्थित है ।
अमरकंटक ताप विद्युत केन्‍द्रसोहागपुर (शहडोल)
सतपुड़ा ताप विद्युत केन्‍द्रसारणी (बैतूल)
पेंच ताप विद्युत केन्‍द्रधनौरा (छिन्‍दवाड़ा)
मालवा ताप विद्युत केन्‍द्रखंडवा
संत सिंगाजी ताप विद्युत केन्‍द्रखंडवा
बुंदेलखंड ताप विद्युत केन्‍द्रछतरपुर (बरेठी)
गाडरवाड़ा ताप विद्युत केन्‍द्रनरसिंहपुर जिला
झाबुआ ताप विद्युत केन्‍द्रसिवनी

परमाणु ऊर्जा केंद्र

• इसमें यूरेनियम की सहायता से ऊर्जा प्राप्‍त की जाती है ।
• चुटका परमाणु ऊर्जा केंद्र, मंडला (प्रस्‍तावित)
• भीमपुर परमाणु ऊर्जा केंद्र, शिवपुरी (प्रस्‍तावित)

•झाबुआ ताप विद्युत केन्‍द्र भेल कीसहायता से सिवनी में स्‍थापित किया गया है ।

नवीनीकरण ऊर्जा

सौर ऊर्जा
• भगवानपुरा सौर ऊर्जा प्‍लांट नीमच में स्थित है ।
• पहला सोलर आधारित टेलीकॉम एक्‍सचेंज शिवपुरी में स्थित है ।
• पहला सौर ऊर्जा आधारित गाँव इंदौर (कस्‍तूरबा गाँव) में स्थित है ।
• पहला तैरता हुआ सौर ऊर्जा प्‍लांट इंदिरा सागर बाँध (खंडवा) में प्रस्‍तावित है ।
• बीना रेलवे स्‍टेशन पर 2020 में 1.7 मेगावाट का सोलर प्‍लांट स्‍थापित किया गया है ।
• पूर्णत: सौर रसोई वाला देश का पहला गाँव बाँचा (बैतूल) में स्थित है ।
• स‍बसे बड़ा गर्म पानी करने का सौर संयंत्र साँची डेयरी , भोपाल में स्‍थापित किया गया है ।

• प्रदेश का सबसे बड़ा सौर ऊर्जा प्‍लांट (750 मेगा वॉट ) रीवा अल्‍ट्रा सौर ऊर्जा प्‍लांट गूढ़ में स्थित  है, जिसके द्वारा दिल्‍ली मेंट्रो को 24% बिजली प्रदान की जाएगी ।
• रीवा अल्‍ट्रा सौर ऊर्जा प्‍लांट का उद्धाटन 10 जुलाई 2020 को प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी द्वारा किया गया ।

रीवा अल्‍ट्रा मेगा सोलर परियोजना


उद्धाटन- 10 जुलाई 2020

पवन ऊर्जा

• म.प्र. में कुल पवन चक्‍की लगभग – 150    
• म.प्र. की पहली ऊर्जा परियोजना जामगोदरानी, देवास में स्थित है ।
• इसमें वायु की सहायता से ऊर्जा का उत्‍पादन किया जाता है ।

बायोमास ऊर्जा
• बायोमास ऊर्जा को अ‍पशिष्‍ट पदार्थों (कचरा, धान भूसी, गन्‍ना भूसी, सरसों डंठल) से प्राप्‍त की जाती है।
• भारत का पहला बायोमास गांव कसाईगाँव (बैतूल) में स्थित है ।


प्रमुख पवन ऊर्जा क्षेत्र



बायोगैस
• बायोगैस पशु के अपशिष्‍ट से बनती है।
• भदभदा पशुपालन केंद्र, भोपाल में स्थित है ।
• बैरसिया पशुपालन केंद्र, भोपाल जिलें में स्थित है ।

बायो डीजल
• जेट्रोफा की सहायता से 10 किलो वॉट का संयंत्र बांसगढ़ी मंडला में स्‍थापित किया गया है ।

#मध्‍यप्रदेश के खंडवा जिले में ओंकारेश्‍वर बांध जलाशय पर दुनिया का सबसे बड़ा तैरता हुआ सौर ऊर्जा संयंत्र बनाने का प्रस्‍ताव किया गया है।

Share this…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *