Share this…

मध्‍यप्रदेश में प्रमुख व्‍यक्तित्‍व Personalities of Madhya Pradesh

यह MPGK Notes मध्यप्रदेश में आयोजित ESB, VYAPAM, MPPEB, MPPSC सभी परीक्षाओं के लिए उपयोगी हैं। हमारे द्वारा यह MPGK Topicwise Notes उपलब्ध करवाए जा रहे हैं। यह MPESB के लिए उपयोगी MPGK Notes समय-समय पर अपडेट किए जाते रहेंगे। जिससे आपको बार-बार नई किताबें खरीदने की जरूरत नहीं होगी।

 #फिल्‍म जगत से सम्‍बंधित
#पत्रकारिता से सम्‍बंधित
#समाजसेवा से सम्‍बंधित
#संगीत कला से सम्‍बंधित
#चित्रकला व मूर्तिकला से सम्‍बंधित
#अन्‍य व्‍यक्तित्‍व 

पत्रकारिता से सम्‍बंधित

पत्रकारजन्‍मविशेष
प्रभात जोशीइंदौरजनसत्‍ता अखबार के संस्‍थापक
दीपक चौरसियाइंदौर——-
माखनलाल चतुर्वेदीबाबई (होशंगाबाद)• ‘हिमकिरीटिनी’,’पुष्‍प की अभिलाषा’ और ‘अमर राष्‍ट्र’ जैसी ओजस्‍वी रचनाओं के रचयिता रहे ।
• इन्‍हें 1963 में भारत सरकार ने ‘पद्मभूषण’ से अलंकृत किया ।
गणेश शंकर विद्यार्थीइलाहाबादइनकी कार्यस्‍थली मुंगावली (अशोकनगर) रही ।
अमजद अली खानग्‍वालियरये प्रसिद्ध सरोद वादक है इन्‍हें पद्मश्री, पद्मभूषण व पद्मविभूषण से नवाजा जा चुका है ।
अमीर खाँइंदौर• इंदौर घराना के संस्‍थापक थे ।
• पद्मभूषण से सम्‍मानित एवं ख्‍याल गायकी में पारंगत थे ।
कुमार गंधर्व (मूलनाम –शिवपुत्र)बेलगांव (कर्नाटक)• इनकी कार्यस्‍थली बागली पहाड़ी देवास  रही है ।
• इन्‍हें संगीत जगत का कबीर कहा जाता है ।
उस्‍ताद हाफीज़ अलीग्‍वालियर1962 में पद्मभूषण से सम्‍मानित  हैं ।
राजा भैय्या पूंछ वालेग्‍वालियर• इनकी मूलनाम बालकृष्‍ण आप्‍टेकर था ।
• ढुमरी, ध्रुपद के विशेषज्ञ माने जाते हैं ।
• इनकी रचनाएँ तानमालिका व संगीतोपासना हैं ।

संगीतकला से सम्‍बंधित

कलाकारजन्‍मस्‍थलविशेष
तानसेन (रामतनु पांडे)बेहट (ग्‍वालियर)• इनका निधन आगरा में हुआ व समाधि स्‍थल ग्‍वालियर में है । • ये रीवा के सजा रामचंद्र व बादशाह अकबर के दरबार में थे ।
उस्‍ताद अलाउद्दीन खानत्रिपुरा /शिवपुरा (वर्तमान में बांग्‍लादेश)• इनका वास्‍तविक नाम आलम था इनकी कार्यस्‍थली मैहर रही है । • इनका निवास स्‍थान मदीना भवन मैहर में है । • इन्‍हें सरोद सम्राट कहा जाता है ।
अली अकबर खानमैहर (सतना)ये ख्‍याल गायक हैं व ये अलाउद्दीन खान के पुत्र रहे हैं ।
राजा चक्रधर रायगढ़ (छत्‍तीसगढ़)इनकी स्‍मृति में चक्रधर फ़ेलोशिप म.प्र. सरकार द्वारा रूपंकर कला क्षेत्र में दी जाती है, जिसमें 1000/- प्रति माह 1 वर्ष तक दिए जाते हैं ।
शंकरराव पंडितग्‍वालियरये ख्‍याल गायकी के लिए प्रसिद्ध हैं ।
कृष्‍णराव पंडितग्‍वालियर• संगीत मार्तण्‍ड की उपाधि से सुशोभित है । • गायक शिरोमणि व ताल सम्राट की उपाधि सरदार पटेल द्वारा दी गयी ।
पंडित कार्तिक रामबिलासपुर• गम्‍मत के श्रेष्‍ठ कलाकार है । • इनके गजपन्‍न नृत्‍य व बताशा नृत्‍य प्रसिद्ध हैं ।
बेगम असगरी बाईछतरपुरये तानसेन सम्‍मान से सम्‍मानित शास्‍त्रीय संगीतकार रही हैं ।

चित्रकला व मूर्तिकला से सम्‍बंधित

चित्रकारजन्‍मविशेष
सैय्यद हैदर रजानरसिंहपुर (बाबरिया ग्राम)ये पद्मश्री, पद्मविभूषण व कालिदास से सम्‍मानित हैं । इन्‍होंने अपनी शिक्षा फ्रान्‍स से पूरी की इनकी प्रसिद्ध चित्र अटल शून्‍य हैं ।
विष्‍णु चिंचालकरदेवासइनका प्रसिद्ध चित्र लैंड ऑफ आर्ट पोर्ट्रेट है ।
देवयानी कृष्‍णइंदौरये होल्‍कर वंश से सम्‍बंधित हैं ।
नारायण श्रीधर बेन्‍द्रेइंदौरइन्‍होने अपने चित्रों में नारियों को विशेष स्‍थान दिया ।
मकबूल फिदा हुसैनपंढरपुर (महाराष्‍ट्र)• इंदौर से पेंटिंग में डिप्‍लोमा किया । • इनका प्रमुख चित्र ‘गजगामिनी’ है । • 2010 में इन्‍होने कतर की नागरिकता ली व 2011 में इनकी मृत्‍यु लंदन में हुई ।
डी.डी. देवलालीकरण (दत्‍तात्रेय दामोदर देवलालीकर)धारइन्‍हे म.प्र. चित्रकला का पिता कहा जाता है ।
अमृता शेरगिलवुडापेष्‍ट (हंगरी)• इनकी कार्य स्‍थली शिमला रही है व मृत्‍यु लाहौर में हुई थी । • म.प्र. सरकार द्वारा अमृता शेरगिल फैलोशिप (प्रतिमाह 1000 रूपये एक वर्ष तक) ललित कला क्षेत्र में दी जाती है ।
देवशंकर जोशीमहेश्‍वर, खरगोन                                    ———

मध्‍यप्रदेश के प्रमुख मूर्तिकार

नामविशेष
रघुनाथ कृष्‍ण फड़केधार जिले के खंडेर गाँव में इन्‍होंने फड़के मूर्ति स्‍टूडियो की स्‍थापना की ।
श्री रूद्र हाजीये अलंकृत शैली के प्रतिष्ठित कलाकार है ।
वासुदेव कामतइन्‍होने ओंकारेश्‍वर में शंकराचार्य की प्रतिमा की प्रतिकृति व प्रतिमा का निर्माण किया
राजेश भंडारी———-
अशोक प्रजापति———-
प्रभात रायप्रभात राय मूर्ति स्‍टूडियों ग्‍वालियर में स्थित है ।
नागेश्‍वर यावलकर———-

रंगकर्म (थियेटर /नाटक) से सम्‍बंधित

रंगकर्मीजन्‍मविशेष
बाबा डिकेनीमच• अकाण्‍ड ताण्‍डव नाटक से इन्‍होंने शुरूआत की थी । • इन्‍होने लिटिल थियेटर की स्‍थापना इंदौर में 1944 में की ।
नरहरि पटेलरतलाम———
विभु कुमारसागरइनके प्रमुख मंचन भिखमंगे, मुखौटे रहे ।
शरद शर्माविदिशा• इनकी कार्यस्‍थली – उज्‍जैन रही है । • 1982 में इन्‍होने अभिनव रंगमंडल की स्‍थापना उज्‍जैन में की ।
हबीब तनवीररायपुरइनकी कार्यस्‍थली इंदौर रही है ।
बंसी कौलश्रीनगरकालिदास सम्‍मान से सम्‍मानित हैं ।
सत्‍यदेव दुबेबिलासपुरये एक प्रसिद्ध नाटककार हैं ।

समाजसेवा से सम्‍बंधित

समाजसेवीजन्‍मविशेष
सुब्‍बारावबैंगलुरू (कर्नाटक)• ये कांग्रेस सेवा दल के सदस्‍य रहे है एवं इन्‍होंने चम्‍बल घाटी में डाकुओं को आत्‍मसमर्पण में सहायता की । • मुरैना जिले में गाँधी आश्रम की स्‍थापना की ।
रईसा खान——-ये भोपाल गैस कांड में पीडि़त महिलाओं को रोजगार व मुआवजा के लिए प्रयत्‍नशील हैं ।
मेघा पाटेकरबम्‍बईये नर्मदा बचाओं आंदोलन में नेतृत्‍वकर्ता रहीं है ।
कैलाश सत्‍यार्थीविदिशा• इन्‍होने 2014 में नोबेल पुरस्‍कार (शांति) अर्जित किया । • बचपन बचाओं आंदोलन – 1980 के नेतृत्‍वकर्ता रहे हैं ।
निर्मला बुचभोपालइन्‍होंने महिला चेतना मंच की स्‍थापना की व पूर्व राज्‍य मुख्‍य सचिव रहीं ।
कान्‍ता वेन त्‍यागी——–खरगौन जिले में आदिवासी कन्‍या आश्रम की स्‍थापना की ।
हरिसिंह गौरसागरइन्‍होने 1 करोड़ रूपए दान देकर सागर विश्‍वविद्यालय की स्‍थापना की थी ।

राजनीति से सम्‍बंधित

राजनीतिज्ञजन्‍मविशेष
मौलाना बरकतउल्‍लाभोपालये गदर पार्टी (1913) के संस्‍थापक सदस्‍य रहे है ।
कैलाशनाथ काटजूरतलाम (जावरा रियासत) तत्‍कालीन इंदौरये 1957 – 62 में मुख्‍यमंत्री एवं 1955- 56 में केन्‍द्रीय मंत्री-रक्षा मंत्री रहे ।
अटल बिहारी बाजपेयीग्‍वालियर (25 दिसम्‍बर 1924)• इन्‍होने भारत छोड़ो आंदोलन में राजनीतिक जीवन की शुरूआत की । • लोक प्रसिद्ध पुस्‍तक –मेरी इक्‍यावन कवितायें रही । • 2014 में भारत रत्‍न से सम्‍मानित हुए ।
उमा भारतीटीकमगढ़• म.प्र. की प्रथम महिला मुख्‍यमंत्री (2003) रही । • इनकी प्रमुख पुस्‍तकें –स्‍वामी विवेकानंद, पीस ऑफ माइण्‍ड हैं ।
शंकर दयाल शर्माभोपाल• भोपाल स्‍टेट के पहले मुख्‍यमंत्री रहे । • 1992 – 97 में भारत के राष्‍ट्रपति रहे ।
सुंदरलाल पटवामंदसौर• 1990- 92 तक मुख्‍यमंत्री रहे । • 2017 में पद्मविभूषण अर्जित किया । • मृत्‍यु – 2017 में हुई ।
विजयाराजे सिंधियासागर• इनका मूल नाम  “लेखा दिव्‍येश्‍वरी’’ थी । • मैट्रिक पास करने वाली पहली नेपाली महिला थी । • इनका विवाह जीवाजीराव सिंधिया से हुआ ।
अर्जुन सिंहसीधी• इनका विधानसभा क्षेत्र नरसिंहपुर रहा । • फूलनदेवी के आत्‍मसमर्पण के समय मुख्‍यमंत्री रहे ।
श्री निवास तिवारीरीवा• ये व्‍हाइट टाइगर के नाम से प्रसिद्ध थे ।
भीम राव अम्‍बेडकरमहू (जिला इंदौर)इनकी मृत्‍यु 1956 में हुई थी,  मरणोपरांत 1990 में भारत रत्‍न से सम्‍मानित किया गया ।
बा‍बूलाल गौरप्रतापगढ़ उत्‍तरप्रदेश• बुलडोजर के नाम से प्रसिद्ध हैं । • इनकी मृत्‍यु 2019 में हुई थी ।
सुमित्रा महाजनरत्‍नागिरी (महाराष्‍ट्र)• ताई के नाम से मशहूर हैं । • भारत की दूसरी महिला लोकसभा स्‍पीकर रहीं ।

अन्‍य व्‍यक्तित्‍व

नामजन्‍मविशेष
अनिल काकोरकरबड़वानीपरमाणु ऊर्जा आयोग के अध्‍यक्ष रहे हैं । इन्‍हें विज्ञान पुरूष के नाम से भी जाना जाता है ।
नरेन्‍द्र करमारकरग्‍वालियरये एक भारतीय गणितज्ञ हैं ।
रघुराम राजनभोपालआर.बी.आई. के 23 वे गर्वनर रहे ।
जगदीश शरण वर्मासतनाम.प्र. के मुख्‍य न्‍यायाधीश (1958-86) एवं भारत के मुख्‍य न्‍यायाधीश (1997-98) रहे ।
रमेश चन्‍द्र लोहाटीगुनाभारत के मुख्‍य न्‍यायाधीश (2004-2005) रहे ।
सुशील दोषीइंदौरहिन्‍दी क्रिकेट कमेन्‍टेटर
नितिन नरेन्‍द्र मेननइंदौरअंतर्राष्‍ट्रीय स्‍तर पर क्रिकेट अंपायर
जादूगर आनन्‍दजबलपुर————
भगवत रावटीकमगढ़देश एक राग है (प्रसिद्ध कविता)
हकीम सय्यद  जिल्‍लुर रहमानभोपालयूनानी चिकित्‍सक
प्रदीप चौबेइंदौरहास्‍य कवि
महेश शर्माझाबुआझाबुआ के गांधी के नाम से प्रसिद्ध

peb home page, mp esb, cgvyapam, peb mponline, mp peb, peb mp, madhya pradesh professional examination board,esb, peb, vyapam, mp vyapam, mppeb, mppsc, mp professional examination board, mp peb gov in, mppsc mponline, peb home, mp peb in, peb online,

Share this…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *