Share this…

मानव खोपड़ी में हड्डियाँ होती है.  – 8  

मनुष्य का हृदय धड़कता है – 72 बार/मिमट  

स्वस्थ मनुष्य की श्वसन दर।    — 16 से 18 बार  

म्रस्तिष्क का वजन    -   1350 से 1400 ग्राम 

मस्तिष्क का बड़ा भाग     -  प्रमस्तिष्क ( सेरेब्रम )  

वृक्‍क (किडनी) का वजन।    -  150 ग्राम   

शरीर की सबसे बड़ी हड्डी     – फीमर ( जाँघ में )  

शरीर की सबसे छोटी हड्डी    – स्टेपीज ( कान )  

शरीर में सबसे मजबूत हड्डी      – जबडे की 

शरीर का सबसे कठोर तत्व     – एनामिल  

सामान्य मनुष्य का रक्त चाप   – 120/80 मिमी.  

मानव शरीर में जल की मात्रा    – 65 से 80%  

रक्त की मात्रा शरीर के भार का होता है – 7%  

मनुष्य में रक्त की मात्रा होती है।   –  5-6 लीटर  

मानव रक्त (क्षारीय) का pH मान     –   7.4  

रक्त को शुद्ध करता है    -   किडनी (वृक्क)  

लाल रक्त कण का निर्माण – अस्थिमज्जा में  

लाल रक्त कण का जीवन काल।  –  20-120 दिन  

श्वेत रक्त कण का जीवन काल     – 2-4 दिन  

श्वेत रक्त कण को कहा जाता है     -   ल्यूकोसाइट  

लाल रक्त कण को कहा जाता है   — एरिथ्रोसाइट  

शरीर का ताप नियंत्रक       -    हाइपोथैलमस ग्रंथि  

सर्वदाता रक्त समूह (यूनिवर्सल डोनर)    –   0  

सर्वग्राही रक्त समूह (यूनिवर्सल रिसेप्टर)   -   AB  

रक्तचाप मापने का यंत्र है       -    स्फिग्मोमैनोमीटर  

ब्लड बैंक कहलाता है     –   प्लीहा (स्पलीन )  

भोजन का पाचन प्रारंभ होता है. – मुख से 

पचे हुए भोजन का अवशोषण।    –  छोटी आंत में  

पित (Bile) स्त्रावित होता है      –.  यकृत द्वारा  

विटामिन A संचित रहता है      — यकृत में  

शरीर की सबसे बड़ी ग्रांथी।       -   यकृत ( लीवर )  

सबसे छोटी ग्रंथि(मास्टर ग्रोथ)    -   पिट्यूटरी 

मनुष्य में पसलियाँ पायी जाती है।   – 12 जोड़ी  

शरीर में हड्डियों की कुल संख्या       – 206  

शरीर में मांसपेशियों की कुल संख्या   -   639  

लार में पाया जाने वाला एनन्जाइम है     -    टायलिन   

लिंग निर्धारण होता है      -    पुरुष क्रोमोसोम पर  

मनुष्य का हृदय होता है.   -    चिर कोष्ठीय  

शरीर में गुणसूत्रों (क्रोमोसोम) की संख्या – 46  

शरीर का सबसे बड़ा आग     -    त्वचा  

शरीर की सबसे बड़ी कोशिका    -   तंत्रिका तंत्र  

शरीर में अमीनो अम्ल की संख्या   –  20  

शरीर में प्रतिदिन मूत्र बनता है. « 1.5 लीटर 

मूत्र दुर्गंध देता है  – यूरिया के कारण  

मानव मूत्र (अम्लीय) का PH.मान    -   6  

शरीर का सामान्य तापमान होता है   – 98,6°F या 97°C यो 310 k  

टीबिया  नामक हड्डी  पायी जाती है – पैर में  

दाँतो और हड्डियों की संचना के लि आवश्यक तत्व है   –  कैल्सियम एवं फॉस्फोरस  

शरीर में उत्तकों का निर्मण होता है    -   प्रोटीन से 

Share this…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *